loader image

मरने के बाद भी

मैं
मरने के बाद भी
याद करूँगा
तुम्हें

तो लो, अभी मरता हूँ
झरता हूँ
जीवन
की
डाल से

निरन्तर
हवा में
तरता हूँ
स्मृतिविहीन करता हूँ
अपने को
तुमसे
हरता हूँ ।

1

Add Comment

By: Doodhnath Singh

© 2021 पोथी | सर्वाधिकार सुरक्षित

Do not copy, Please support by sharing!