loader image

तुम्हारे जन्म-दिन पर

तुम्हारे जन्म-दिन पर आएगी स्वतंत्रता
तुम्हारे जन्म-दिन पर सजेगा लालक़िला
तुम्हारे जन्म-दिन पर ले जाए जाएँगे प्रधानमंत्री ऊपर
बखान करेंगे। सलामी लेंगे। झण्डा खींचेंगे तिरंगा
तुम्हारे जन्म-दिन पर खूब झमाझम होगी बारिश
झूमेंगे गरजेंगे मेघ
तुम्हारे जन्म-दिन पर ख़ूनी दरवाज़े पर पुलिस का दस्ता होगा
तुम्हारे जन्म-दिन पर पर मारे जाएँगे कश्मीरी दो-चार

तुम्हारे जन्म-दिन पर फिरूँगा अकेला
न जाने कहाँ
कब तक!
तुम्हारे जन्म-दिन पर एक दिन और
बड़ी हो जाओगी तुम

तुम्हारे जन्म-दिन पर ताज़े फूल
बार-बार बासी हो जाएँगे।

तुम्हारे जन्म-दिन के एक दिन बाद
लौटूँगा
अमर होकर
तुम्हारे
जन्म-दिन पर।

783

Add Comment

By: Doodhnath Singh

© 2022 पोथी | सर्वाधिकार सुरक्षित

Do not copy, Please support by sharing!