loader image

सभी लोग लगे हैं काम में

सभी लोग लगे हैं काम में
चले गए । मैं हूँ आराम में
हमाम में । याद करूँगा तुम्हें
शाम में । सब होंगे अपने
धन-धाम में । मैं बैठा रहूँगा
अन्तिम विराम में ।
नीरस निष्काम में
तमाम में ।

966

Add Comment

By: Doodhnath Singh

© 2021 पोथी | सर्वाधिकार सुरक्षित

Do not copy, Please support by sharing!